Current Date: 22 Apr, 2024
Sabke Ram APP

हनुमान जयंती व्रत, पूजा विधि, मंत्र और शुभ महूर्त (Hanuman Jayanti Vrat, Puja Vidhi, Mantra Aur Subh Mahurat) - The Lekh


हनुमान जयंती व्रत, पूजा विधि, मंत्र और शुभ महूर्त

संकटमोचन भगवान हनुमान की जयंती इस साल 06 अप्रैल को मनाई जा रही है। इस दिन भक्त विधि विधान से श्रीराम भक्त हनुमान की पूजा करते हैं। कहा जाता है कि इस दिन बजरंगबली की अराधना से समस्त कष्ट दूर हो जाते हैं। ये पवित्र दिन चैत्र शुक्ल पूर्णिमा के दिन आता है। हनुमान जयंती पर लोग घर पर तो पूजा करते ही लेकिन इस दिन हनुमान जी के मंदिरों में भी भक्तों की भीड़ लगी रहती है। लेकिन इस बार कोरोना वायरस लॉकडाउन के चलते मंदिरों में भक्त दर्शन के लिए नहीं जा पायेंगे। तो ऐसे में आप घर पर ही विधि विधान से भगवान हनुमान जी की पूजा अराधना करें।

हनुमान पूजन सामग्री: लाल कपडा/लंगोट, जल कलश, पंचामृत, जनेऊ, गंगाजल, सिन्दूर, चांदी/सोने का वर्क, लाल फूल और माला, इत्र, भुने चने, गुड़, बनारसी पान का बीड़ा, नारियल, केले, सरसो का तेल, चमेली का तेल, घी, तुलसी पत्र, दीपक, धूप, अगरबत्ती, कपूर।

हनुमान जयंती व्रत और पूजा विधि:
– इस दिन भगवान हनुमान को प्रसन्न करने के लिए चौमुखी दीपक जलाएं। इसके अलावा हनुमान चालीसा और सुंदरकांड का पाठ करें।
– हनुमान जी को गेंदे, हजारा, कनेर, गुलाब के फूल चढ़ाएं जबकि जूही, चमेली, चम्पा, बेला इत्यादि फूलों को चढ़ाने से बचें।
– प्रसाद के रूप में मालपुआ, लड्डू, चूरमा, केला, अमरूद आदि का भोग लगाएं।
– घी का दीपक हनुमान जी की प्रतिमा के सामने जलाएं।
– दोपहर तक इस दिन कोई भी नमकीन चीज न खाएं।
– इस दिन हनुमान जी को सिंदूर का चोला चढ़ाने से मनोकामना की शीघ्र पूर्ति होती है|

हनुमान जी के मंत्र:
– ॐ तेजसे नम: पहला मंत्र
– ॐ प्रसन्नात्मने नम: दूसरा मंत्र
– ॐ शूराय नम: तीसरा मंत्र
– ॐ शान्ताय नम: चौथा मंत्र
– ॐ मारुतात्मजाय नमः पांचवां मंत्र

हनुमान जयंती 2023 पूजा मुहूर्त
उदयातिथि के आधार पर 06 अप्रैल को हनुमान जयंती मनाई जाएगी. सुबह में स्नान दान के बाद हनुमान जी की विधि विधान से पूजा होगी. इस दिन लाभ-उन्नति मुहूर्त सुबह 06:15 बजे से सुबह 07:48 बजे तक है. सुबह 07:48 बजे से सुबह 09:21 बजे तक अमृत-सर्वोत्तम मुहूर्त है. वहीं, शुभ-उत्तम मुहूर्त सुबह 10:53 बजे से दोपहर 12:26 बजे तक है. ऐसे में आप इन शुभ मुहूर्त में हनुमान जी की पूजा कर सकते हैं.

Hanuman Jayanti fast, worship method, mantra and auspicious time

The birth anniversary of Sankatmochan Lord Hanuman is being celebrated on 06 April this year. On this day, devotees worship Hanuman, a devotee of Shri Ram, by law. It is said that by worshiping Bajrangbali on this day all the troubles go away. This holy day falls on Chaitra Shukla Purnima. On Hanuman Jayanti, people not only worship at home, but on this day there is a crowd of devotees in the temples of Hanuman ji. But this time due to the corona virus lockdown, devotees will not be able to go to the temples for darshan. So, in such a situation, you should worship Lord Hanuman ji at home according to the rules and regulations.

Hanuman Pujan Material: Red Cloth/Nappy, Water Kalash, Panchamrit, Janeu, Gangajal, Sindoor, Silver/Gold Work, Red Flowers and Garland, Perfume, Roasted Gram, Jaggery, Banarasi Betel Leaf, Coconut, Banana, Mustard Oil , jasmine oil, ghee, basil leaf, lamp, incense, incense sticks, camphor.

Hanuman Jayanti Vrat and Puja Method:
On this day, light a four faced lamp to please Lord Hanuman. Apart from this, recite Hanuman Chalisa and Sunderkand.
Offer Marigold, Hazara, Kaner, Rose flowers to Hanuman ji while avoid offering Juhi, Chameli, Champa, Bela etc flowers.
- Offer malpua, laddu, churma, banana, guava etc as prasad.
Light a lamp of ghee in front of the idol of Hanuman ji.
Do not eat any salty thing on this day till noon.
On this day, by offering vermilion to Hanuman ji, wishes are fulfilled quickly.

Mantras of Hanuman ji:
– Om Tejse Namah: The first mantra
– Om Prasannatmane Namah: Second Mantra
– Om Shuraya Namah: The third mantra
– Om Shantaya Namah: The fourth mantra
– Om Marutatmajaya Namah: Fifth Mantra

Hanuman Jayanti 2023 Puja Muhurta
Hanuman Jayanti will be celebrated on 06 April on the basis of Udayatithi. After donating bath in the morning, Hanuman ji will be worshiped according to the rules and regulations. On this day, the profit-progress Muhurta is from 06:15 am to 07:48 am. From 07:48 am to 09:21 am amrit-best time is. Whereas, the auspicious time is from 10:53 am to 12:26 pm. In such a situation, you can worship Hanuman ji in these auspicious times.

और भी मनमोहक भजन, आरती, वंदना, चालीसा, स्तुति :-

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो कृपया इसे अन्य लोगो तक साझा करें एवं किसी भी प्रकार के सुझाव के लिए कमेंट करें।

Singer - The Lekh