Current Date: 22 Apr, 2024
Sabke Ram APP

हनुमत से बोली यूँ माता (Hanumat Se Boli Yun Mata) - Navratan Giri Ji Maharaj


हनुमत से बोली यूँ माता लिरिक्स हिंदी में (Hanumat Se Boli Yun Mata Lyrics in Hindi)

पर्वत लेकर लौट रहे थे, मिल गयी अंजनी मात
हनुमत नै माता को, बता दिए हालात


मेघनाथ नै शक्ति मारी, लक्ष्मण जी बेहोश है
सुनकर अंजनी माता को, आया बड़ा ही क्रोध है  

हनुमत से बोली यूँ माता, क्युं मुख मुझे दिखाया है
तू वो मेरा लाल नहीं, जिसे मैंने दूध पिलाया है

मैंने ऐसा दूध पिलाया, पर्वत के टुकड़े हो जाये
मेरी कोख से जन्म लिया, और मेरा दूध लजाया है
हनुमत से बोली यूँ माता...

भेजा था श्री राम के संग में, करना उनकी रखवाली
लक्ष्मण शक्ति खा के पड़ा, और रावण ने सीता हर ली
माँ का सीस कभी न उठेगा, ऎसा दाग लगाया है
हनुमत से बोली यूँ माता..

छोटी सी एक लंक जलाकर, अपने मन में गरवाया
रावण को जिन्दा छोड़ा, और सीता साथ नहीं लाया
कभी न मुझको मुख दिखलाना, माँ ने हुक्म सुनाया है
हनुमत से बोली यूँ माता..

हाथ जोड़कर हनुमत बोले, इसमें दोष नहीं मेरा
श्री राम का हुक्म यही था, माँ विशवास करो मेरा
मैंने वोही किया है, जो श्री राम ने हुकम सुनाया है
हनुमत से बोली यूँ माता ..

अंजनी माँ का क्रोध देख कर, प्रगट भये मेरे भगवान
धन्य धन्य है माता तुमको, बोले है मेरे भगवान
दोष नहीं है इसमे इसका, यह सब मेरी माया है
हनुमत से बोली यूँ माता ..

पर्वत लेकर लौट रहे थे, मिल गयी अंजनी मात
हनुमत नै माता को, बता दिए हालात

हनुमत से बोली यूँ माता लिरिक्स अंग्रेजी में (Hanumat Se Boli Yun Mata Lyrics in English)

parvat lekar laut rahe the, mil gayi anjani maat
hanumat nai maata ko, bata die haalaat


meghanaath nai shakti maari, lakshman ji behosh hai
sunakar anjani maata ko, aaya bada hi krodh hai  

hanumat se boli yoon maata, kyun mukh mujhe dikhaaya hai
too vo mera laal nahi, jise mainne doodh pilaaya hai

mainne aisa doodh pilaaya, parvat ke tukade ho jaaye
meri kokh se janm liya, aur mera doodh lajaaya hai
hanumat se boli yoon maataa...

bheja tha shri ram ke sang me, karana unaki rkhavaalee
lakshman shakti kha ke pada, aur raavan ne seeta har lee
ma ka sees kbhi n uthega, sa daag lagaaya hai
hanumat se boli yoon maataa..

chhoti si ek lank jalaakar, apane man me garavaayaa
raavan ko jinda chhoda, aur seeta saath nahi laayaa
kbhi n mujhako mukh dikhalaana, ma ne hukm sunaaya hai
hanumat se boli yoon maataa..

haath jodakar hanumat bole, isame dosh nahi meraa
shri ram ka hukm yahi tha, ma vishavaas karo meraa
mainne vohi kiya hai, jo shri ram ne hukam sunaaya hai
hanumat se boli yoon maata ..

anjani ma ka krodh dekh kar, pragat bhaye mere bhagavaan
dhany dhany hai maata tumako, bole hai mere bhagavaan
dosh nahi hai isame isaka, yah sab meri maaya hai
hanumat se boli yoon maata ..

parvat lekar laut rahe the, mil gayi anjani maat
hanumat nai maata ko, bata die haalaat

और मनमोहक भजन :-

अगर आपको यह भजन अच्छा लगा हो तो कृपया इसे अन्य लोगो तक साझा करें एवं किसी भी प्रकार के सुझाव के लिए कमेंट करें।

Singer - Navratan Giri Ji Maharaj