Current Date: 29 Feb, 2024
Sabke Ram APP

जगत है रैन का सपना (Jagat Hai Rain Ka Sapna) - Satyendra Pathak


जगत है रैन का सपना लिरिक्स हिंदी में (Jagat Hai Rain Ka Sapna Lyrics in Hindi)

जगत है रेन का सपना समझ मन कोई नहीं अपना
समझ मन कोई नहीं अपना
कठिन है लोभ की धारा कठिन है लोभ की धारा
जहाँ सब जावे संसारा जहाँ सब जावे संसारा
जगत है रेन का सपना समझ मन कोई नहीं अपना
हो समझ मन कोई नहीं अपना

पत्ता जैसे डाल से टुटा घड़ा जो नीर का फूटा
पत्ता जैसे डाल से टुटा घड़ा जो नीर का फूटा
घड़ा जो नीर का फूटा
हो ऐसे तर जाए जिंदगानी हो ऐसे तर जाए जिंदगानी
सवेरे चेत अभिमानी हो सवेरे चेत अभिमानी
जगत है रेन का सपना समझ मन कोई नहीं अपना
समझ मन कोई नहीं अपना

ए भूलो मत देख तन गोरा जगत में जीवना थोड़ा 
ए भूलो मत देख तन गोरा जगत में जीवना थोड़ा 
रे जगत में जीवना थोड़ा 
तजो मत लोभ चतुराई तजो मत लोभ चतुराई
निसंख होई रहो जग माही निसंख होई रहो जग माही
जगत है रेन का सपना समझ मन कोई नहीं अपना
समझ मन कोई नहीं अपना

कुटुंब परिवार सूत सारा वो एक दिन होवेगा न्यारा
कुटुंब परिवार सूत सारा वो एक दिन होवेगा न्यारा
हाँ वो एक दिन होवेगा न्यारा
निकल जब प्राण जावेगा निकल जब प्राण जावेगा
कोई नहीं काम आवेगा रे कोई नहीं काम आवेगा
जगत है रेन का सपना समझ मन कोई नहीं अपना
समझ मन कोई नहीं अपना

कठिन है लोभ की धारा कठिन है लोभ की धारा
जहाँ सब जावे संसारा जहाँ सब जावे संसारा
जगत है रेन का सपना समझ मन कोई नहीं अपना
हो समझ मन कोई नहीं अपना समझ मन कोई नहीं अपना
समझ मन कोई नहीं अपना

जगत है रैन का सपना लिरिक्स अंग्रेजी मेंSant Vani, Nirgun Bhajan, जगत है रैन का सपना, Jagat Hai Rain Ka Sapna, nirgun vani, निराकार निर्गुण भजन, devender Pathak, nirgun bhajan devender Pathak, bhajan 2022 songs, nirgun video, nirgun geet, nirgun bhajan 2022, nirgun bhakti, nirgun bhakti bhajan, chetawani bhajan, chetawani bhajan by devender Pathak, nirgun bhajan, Nirgun bhajan hindi, nirguni, nirguni bhajan,  (Jagat Hai Rain Ka Sapna Lyrics in English)

Jagat hai ren kaa sapanaa samajh man koii nahiin apanaa
Samajh man koii nahiin apanaa
Kaṭhin hai lobh kii dhaaraa kaṭhin hai lobh kii dhaaraa
Jahaan sab jaave samsaaraa jahaan sab jaave samsaaraa
Jagat hai ren kaa sapanaa samajh man koii nahiin apanaa
Ho samajh man koii nahiin apanaa

Pattaa jaise ḍaal se ṭuṭaa ghadaa jo niir kaa phuuṭaa
Pattaa jaise ḍaal se ṭuṭaa ghadaa jo niir kaa phuuṭaa
Ghadaa jo niir kaa phuuṭaa
Ho aise tar jaae jindagaanii ho aise tar jaae jindagaanii
Savere chet abhimaanii ho savere chet abhimaanii
Jagat hai ren kaa sapanaa samajh man koii nahiin apanaa
Samajh man koii nahiin apanaa

E bhuulo mat dekh tan goraa jagat men jiivanaa thodaa 
E bhuulo mat dekh tan goraa jagat men jiivanaa thodaa 
Re jagat men jiivanaa thodaa 
Tajo mat lobh chaturaaii tajo mat lobh chaturaaii
Nisankh hoii raho jag maahii nisankh hoii raho jag maahii
Jagat hai ren kaa sapanaa samajh man koii nahiin apanaa
Samajh man koii nahiin apanaa

Kuṭunb parivaar suut saaraa vo ek din hovegaa nyaaraa
Kuṭunb parivaar suut saaraa vo ek din hovegaa nyaaraa
Haan vo ek din hovegaa nyaaraa
Nikal jab praaṇ jaavegaa nikal jab praaṇ jaavegaa
Koii nahiin kaam aavegaa re koii nahiin kaam aavegaa
Jagat hai ren kaa sapanaa samajh man koii nahiin apanaa
Samajh man koii nahiin apanaa

Kaṭhin hai lobh kii dhaaraa kaṭhin hai lobh kii dhaaraa
Jahaan sab jaave samsaaraa jahaan sab jaave samsaaraa
Jagat hai ren kaa sapanaa samajh man koii nahiin apanaa
Ho samajh man koii nahiin apanaa samajh man koii nahiin apanaa
Samajh man koii nahiin apanaa

और मनमोहक भजन :-

अगर आपको यह भजन अच्छा लगा हो तो कृपया इसे अन्य लोगो तक साझा करें एवं किसी भी प्रकार के सुझाव के लिए कमेंट करें।

Singer - Satyendra Pathak