Current Date: 26 Feb, 2024
Sabke Ram APP

जय हो तेरी माँ ज्वाला - Prem Mehra


कोरस :-     जय माँ जय माँ जय माँ 
जय हो जय हो तेरी ज्वाला माँ -२
M:-        अकबर अपनी ताकत पर बड़ा गुरुर था 
सत्ता के नशे में शहंशाह चूर था आया था 
आया था माँ की ज्योत बुझाने को वो मगर मध्यम हुआ ज्योति का नूर था 
सुन लो सच्ची ये कहानी 
कोरस :-     सुन लो सच्ची ये कहानी 
M:-        भक्तो तुम मेरी जवानी 
कोरस :-     भक्तो तुम मेरी जवानी 
M:-        ना तो लोहा ना तो पानी 
कोरस :-     ना तो लोहा ना तो पानी 
M:-        बुझा पाए थे ज्योत नूरानी 
कोरस :-     बुझा पाए थे ज्योत नूरानी 
M:-        देख हुयी अकबर को नूरानी 
कोरस :-     देख हुयी अकबर को नूरानी 
M:-        शर्म से हो गया पानी पानी 
कोरस :-     शर्म से हो गया पानी पानी शर्म से हो गया पानी पानी 
M:-        वो बोला ज्योति का नूर आला  
जय हो जय तेरी माँ ज्वाला जय हो माँ ज्वाला
कोरस:-     जय हो माँ जय हो माँ 
M:-        जय हो माँ जवाला 
कोरस :-     जय हो तेरी माँ ज्वाला माँ
M:-        हो मैया तू है बड़ी महान 
कोरस :-      हो मैया तू है बड़ी महान 
M:-        तेरी जग में ऊंची शान 
कोरस :-     तेरी जग में ऊंची शान 
M:-        हो मैया तू है बड़ी महान तेरी जग में ऊंची शान
तेरा रूतबा है माँ जग से निराला 
जय हो तेरी माँ ज्वाला जय हो माँ 
कोरस :-     जय हो माँ जय हो माँ 
M:-        जय हो माँ ज्वाला 
कोरस :-     जय हो माँ जय हो माँ 
M:-        ज्वाला जय हो माँ 
कोरस :-     जय हो माँ जय हो माँ 

M:-        था बड़े ही अहंकार में वो अकबर 
कोरस :-     था बड़े ही अहंकार में वो अकबर 
M:-        बोला है क्या कोई जग में मुझसे बढ़कर 
कोरस :-     बोला है क्या कोई जग में मुझसे बढ़कर 
M:-        सवा मन का मै लाया सोने का छत्तर 
कोरस :-     सवा मन का मै लाया सोने का छत्तर 
M:-        फिर छत्र पडी माँ की तिरछी नजर 
कोरस :-     फिर छत्र पडी माँ की तिरछी नजर 
M:-        देखा सोने का जो रंग 
कोरस :-     देखा सोने का जो रंग 
M:-        रह गए थे सब दंग 
कोरस :-     रह गए थे सब दंग 
M:-        देखा सोने का जो रंग रह गए थे सब दंग 
ऐसी धातु में माँ ने बदल डाला जय हो तेरी माँ ज्वाला 
जय हो माँ ज्वाला 
कोरस :-     जय हो माँ जय हो माँ 
M:-        जय हो माँ ज्वाला 
कोरस :-     जय हो माँ जय हो माँ जय हो माँ ज्वाला 
कोरस :-     जय हो माँ जय हो माँ 

कोरस :-     जय हो जय हो तेरी ज्वाला माँ 
M:-        चिर पर्वत की छाती को निकली है ये 
कोरस :-     चिर पर्वत की छाती को निकली है ये 
M:-        और बिना तेल बाती के जलती है ये 
कोरस :-     और बिना तेल बाती के जलती है ये 
M:-        अपने भक्तो के दुःख दर्द हरती है 
कोरस :-     अपने भक्तो के दुःख दर्द हरती है 
M:-        सोई किस्मत को उनकी बदलती है ये 
कोरस :-     सोई किस्मत को उनकी बदलती है ये 
M:-        प्रेमी नाम ले जो तेरा 
कोरस :-     प्रेमी नाम ले जो तेरा 
M:-        मिटे लचक अँधेरा 
कोरस :-     मिटे लचक अँधेरा 
M:-        प्रेमी नाम ले जो तेरा मिटे लचक अँधेरा 
उनके जीवन में करती उजाला 
 जय हो तेरी माँ ज्वाला 
जय हो माँ ज्वाला 
कोरस :-     जय हो माँ जय हो माँ 
M:-        जय हो माँ ज्वाला 
कोरस :-     जय हो माँ जय हो माँ 
M:-        जय हो माँ ज्वाला

Singer - Prem Mehra