Current Date: 10 Jun, 2023

पार्वती पती शिव की - Kishan Bhagat

हिंदू तिकड़ी में शिव तीसरे देवता हैं। शिव को अदम्य जुनून के लिए जाना जाता है, जो उन्हें व्यवहार में चरम पर ले जाता है। कभी-कभी वह एक तपस्वी होता है, सभी सांसारिक सुखों से दूर रहता है। दूसरों पर वह एक सुखवादी है।


तेरी ऊँची है शान मेरी बिगड़ी तू जान,
तूँ ही है इस जग का विधाता,
सुन मेरी ये बात बाबा ओ भोलेनाथ,
तू ही पिता ओर तूँ ही मेरी माता....

ओ भोलेनाथ ओ शम्भूनाथ,
मेरे सर पे तेरा हाथ जेसे गौरा तेरे साथ,
भोले की जय जय शिव जी की जय जय ,
पार्वती पती शिव जी की जय जय...

हिमालय की वादियों मे डेरा तेरा डेरा तेरा ,
तू हे मेरा बाबा मैं हूँ बालक तेरा,
अरे तू है मेरा बाबा मैं हूँ बालक तेरा,
तेरे डमरु की जय जय त्रीशूल कि जय जय,
तेरे ऊँचे ऊँचे कैलाशो की जय जय,
भोले की जय जय शिव जी की जय जय,
पार्वती पती शिव जी की जय जय….

जपता हूँ तेरा नाम ओं भोले सुबह शाम,
ओर जपूँ माला तेरी ओं बाबा तेरी,
तुने डुबती नैया पार लगा दी मेरी तुने मेरी,
तेरे चंदा की जय जय सूरज की जय जय,
तेरे काले काले सर्पों की जय जय,
भोले की जय जय शिव जी की जय जय,
पार्वती पती शिव जी की जय जय....

Singer - Kishan Bhagat

Leave a Reply